थम गया चुनाव प्रचार-प्रसार का शोर, अब मतदान का इंतजार

ताजा खबरें

खगडिया : विधानसभा के दूसरे चरण के लिए मतदान को लेकर चुनाव प्रचार प्रसार का शोर रविवार की शाम थम गया। अब मैदान में उतरे उम्मीदवार ढोल-ढमाकों से प्रचार नहीं कर सकेंगे। इसके बाद उम्मीदवार के साथ-साथ समर्थक अब डोर टू डोर संपर्क साधने में जुट गए हैं। इसके अलावा बूथ एवं वोट मैनेजमेंट का भी दौर प्रारंभ हो गया है। चुनाव प्रचार के अंतिम दिन सभी प्रत्याशियों ने प्रचार-प्रसार में अपनी ताकत झोंक दी और दिनभर प्रचार गाड़ियां सड़कों पर दौड़ती रहीं। स्क्रूटनी के बाद से चुनाव प्रचार के दौरान एक प्रत्याशी की प्रचार गाड़ी किसी मोहल्ले से गुजरती नहीं थी कि दूसरी गाड़ी भोपू लेकर पहुंच जाती थी। दिनभर लाउडस्पीकर से बजते चुनावी नारे व चुनावी गीत के शोर से लोग थक चुके थे। चुनावी भोंपू की आवाज बंद होने से लोगों ने राहत की सांस ली है।

डोर-टू-डोर कैंपेनिग करने के साथ कर रहे बूथ मैनेजमेंट

चुनाव प्रचार थमने के साथ ही सभी प्रत्याशी डोर-टू-डोर कैंपेनिग करने के साथ बूथ मैनेजमेंट में लग गए हैं। हर उम्मीदवार मतदाता सूची हर बूथ तक पहुंचाने और ज्यादा से ज्यादा मतदान के लिए कार्यकर्ताओं को नए-नए टिप्स दे रहे हैं। कार्यकर्ताओं को युद्धस्तर पर काम करने के साथ ही मतदान केंद्रों तक ज्यादा से ज्यादा संख्या में अपने समर्थक वोटरों को पहुंचाने का निर्देश दे रहे हैं। एक बूथ पर कितने कार्यकर्ता रहेंगे इसकी रणनीति बन रही है। कार्यकर्ता मुस्तैदी से वोट डलवाएंगे, इसके लिए खर्चे पानी की भी व्यवस्था हो रही है।

उल्लेखनीय है नाम वापसी के बाद जिले के चारों विधानसभा में कुल 67 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। सबसे ज्यादा खगड़िया विधानसभा में 21 उम्मीदवार हैं। इन सभी प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला 3 नवंबर को मतदाता करेगी। जिसका परिणाम 10 नवंबर को आयेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *