सशस्त्र सीमा बल भटके युवाओं को प्रशिक्षण देकर समाज की मुख्यधारा में लाने का कर रही है काम : ज्योति

ताजा खबरें

बिजली, पंखा मरम्मती व वायरिंग का सात दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन

रिपोर्ट : विनोद विरोधी

बाराचट्टी (गया) सशस्त्र सीमा बल बीवीपेसरा के सौजन्य से मानव संसाधन विकास कार्यक्रम के तहत बिजली ,पंखा मरम्मती एवं वायरिंग कार्यक्रम प्रशिक्षण का सात दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन समारोह स्थानीय जीएस मैरिज हॉल सोभ में संपन्न हुआ। स्वयंसेवी संगठन मजदूर किसान विकास संस्थान गोसाई पेसरा द्वारा आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में स्थानीय विधायिका ज्योति मांझी ने अपने संबोधन में कहा कि सशस्त्र सीमा बल भटके युवाओं को प्रशिक्षण देकर मुख्यधारा में लाने के साथ-साथ उन्हें बेहतर संस्कार भी दे रही है ।आज देश व समाज उग्रवाद से त्रस्त है ।ऐसी विकट परिस्थिति में हम सबों को जिम्मेदारी होती है कि सुरक्षाकर्मियों के साथ मधुर संबंध बनाकर उनकी रक्षा भी करें। उन्होंने प्रशिक्षणार्थियों से कहा प्रखंड मुख्यालयों के माध्यम से सरकारी योजनाओं का लाभ उठाकर विकास कार्यों में सहयोग प्रदान करें। इस अवसर पर सशस्त्र सीमा बल के बीबीपेसरा के सहायक कमांडेंट सुहैल आलम ने कहा कि सामाजिक चेतना कार्यक्रम के अंतर्गत ऐसे युवाओं को विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण आयोजित किए जाते रहे हैं ताकि युवा पीढ़ी को देश व समाज के मुख्यधारा में लाया जा सके ।कार्यक्रम में मजदूर किसान विकास संस्थान के सचिव रामदेव प्रसाद ने आगत अतिथियों को अभिनंदन करते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की और कहा कि युवा वर्ग लोग शिक्षित होकर स्वावलंबी बनने का काम करें ।इस अवसर पर उपस्थित लोगों में सशस्त्र सीमा बल के डिप्टी कमांडेंट अरविंद कुमार सिंह ,प्रखंड विकास पदाधिकारी मनोज कुमार श्रीवास्तव ,जदयू के प्रखंड अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा, भाजपा के प्रखंड अध्यक्ष हेमराज प्रसाद वर्मा ,रामविलास शर्मा, दिलीप यादव, कृष्णदेव प्रसाद यादव, गुलाम वारिस खान, मुखिया ओकार साव समेत अन्य लोग शामिल थे । गौरतलब है कि इस प्रशिक्षण में गया ,औरंगाबाद व रोहतास जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों से आए कुल 24 प्रशिक्षणार्थियों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *