दलित प्रतिनिधि होने के बाद भी वनाधिकार कानून के प्रति उदासीन

Neeraj Kumar 17 0 08 September 2020

विनोद विरोधी की रिपोर्ट


न्यू भारत मिशन ने राज्यस्तरीय समावेशी रैली का किया आयोजन


गया (बाराचट्टी) : 
न्यू भारत मिशन के तत्वावधान में आज मोहनपुर प्रखंड के इटवॉ बाजार के निकट बिहिया के मैदान में राज्य स्तरीय समावेशी रैली का आयोजन किया गया। इस अवसर पर लोकनायक जयप्रकाश नारायण से जुड़े अनुयायियों ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि अत्यंत पिछड़ा क्षेत्र बाराचट्टी में दलित प्रतिनिधि रहने के बावजूद वनाधिकार कानून 2006 के प्रति सदन में कोई सवाल तक नहीं उठा सके। इस कानून में के लागू होने से क्षेत्र के 10हजार परिवारों को परंपरागत अधिकार मिलता। जिससे उन्हें वंचित होना पड़ रहा है ।वक्ताओं ने पूर्व सीएम जीतन राम मांझी पर भी सवालिया निशान खड़ा करते हुए कहा कि वे 2014 के लोकसभा चुनाव में इस कानून को लागू करने का वायदा किया था तथा समर्थन मांगा था, किंतु वे लोकसभा चुनाव हार कर भी मुख्यमंत्री  बनने के बाद भी इस कानून को लागू नहीं करा पाए ।रैली के माध्यम से वक्ताओं ने सभी के लिए रोजगार की गारंटी करने, योग्यता को बढ़ाने के लिए स्कूल प्रणाली को उन्नत बनाने ,स्वास्थ्य सेवा को बेहतर करने, मुहाने जलाशय परियोजना का निर्माण कार्य शुरू करने तथा ऑपरेशन दखल दहानी का काम पूरा करवाने का संकल्प लिया। इस अवसर पर प्रमुख वक्ताओं में अशोक प्रियदर्शी, कैलाश भारती, चंदा देवी ,बनारसी आलम, सरस्वती देवी समेत अन्य लोग मौजूद थे।

लोगो की प्रतिक्रिया

No any comment posted yet..

अपनी प्रतिक्रिया दे