बेसहारों के लिए सहारा बन रहे छेदी अब तक 1235 प्रवासी व लाचारों के बीच बांटे राशन

Sudhanshu Kumar Ranjan 190 0 05 September 2020

 रिपोर्ट: विनोद विरोधी 


बाराचट्टी( गया)। वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण को लेकर बाहर से आए प्रवासी मजदूरों व स्थानीय बेबस ,लाचार व बेसहारों के लिए छेदी मंडल इन दिनों सहारा बने हुए हैं ।वे लगातार इन गरीबों के बीच में सूखा राशन समेत अन्य जरूरत की सामग्री इन तक पहुंचा रहे हैं ।स्वयंसेवी संगठन समग्र सेवा केंद्र बाराचट्टी एवं सेव द चिल्ड्रेन के संचालक रहे छेदी मंडल अपने परियोजना के माध्यम से मोहनपुर प्रखंड के 4 पंचायतों क्रमशः बगुला ,सिंदुअार ,धरहरा एवं बुमुआर में अपने कार्यकर्ताओं, स्थानीय मुखिया, वार्ड सदस्य, आंगनवाड़ी सेविका एवं आशा की सहायता से गरीब असहाय ,विधवा ,विकलांग एवं प्रवासी मजदूरों को चयनित कर उन्हें मदद करने में जुटे हैं।




उनके बीच राहत पैकेज में 8 किलो चावल ,5 किलो आटा ,2 किलो दाल, 1 किलो नमक व सर्फ,नहाने का तीन साबुन, 3 किलो चना ,2 किलो गुड, 1 किलो सरसों का तेल ,सब्जी मसाला आदि का वितरण कर रहे हैं ।श्री मंडल का कहना है कि वे मोहनपुर प्रखंड के 4 पंचायतों में बीते 14 अगस्त से लगातार राहत कार्य चला रहे हैं और अब तक वे 1235 जरूरतमंद परिवारों के बीच राशन समेत अन्य सामानों का वितरण कर चुके हैं। वे आगे बताते हैं कि इस काम में स्थानीय जदयू के सांसद विजय मांझी का भी सहयोग रहा है ।इसके अलावा अन्य समाजसेवियों के सहयोग लेकर इस काम को अंजाम दिया जा रहा है ।वहीं संस्था के परियोजना समन्वयक सुजीत कुमार ने बताया कि इन कामों को करने से हमें व संस्था को काफी सुकून मिल रहा है ।गौरतलब है कि कोरोना को लेकर देशव्यापी लॉक डाउन के दौरान जीटी रोड के रास्ते बड़े पैमाने पर आ रहे श्रमिक मजदूरों को लगातार एक पखवारे तक स्टॉल लगाकर सत्तू पिलाने का भी काम कर चुके हैं। जिसकी चर्चा जिले व अन्य राज्यों में भी होती रही है।

लोगो की प्रतिक्रिया

No any comment posted yet..

अपनी प्रतिक्रिया दे