मंझधार में फंसी बाराचट्टी के प्रमुख व उप प्रमुख की कुर्सी

Sudhanshu Kumar Ranjan 735 0 12 August 2020

पंचायत समिति की बैठक में कोरम का दिखा अभाव 


35सदस्यों वाले सदन में 16 की रही उपस्थिति 


रिपोर्ट : विनोद विरोधी 


बाराचट्टी (गया )।मान सम्मान से नाराज एवं विकास योजनाओं में उपेक्षा किए जाने को लेकर 10 पंचायत समिति सदस्यो एवं पांच मुखियो द्वारा पंचायत समिति की प्रखंड स्तरीय बैठक का बहिष्कार के बाद बाराचट्टी के प्रखंड प्रमुख चंदिया देवी एवं उपप्रमुख इंद्रदेव यादव की कुर्सी खतरे में पड़ गई है ।वही बैठक में उपस्थित सदस्यों ने गत बैठक की कार्यवाही की संपुष्टि एवं चंद योजनाओं को अंजाम  के पश्चात बैठक की कार्यवाही समाप्त कर दी गई ।बैठक में उपस्थित प्रतिनिधियों में स्थानीय सांसद विजय कुमार मांझी एवं राजद विधायक समता देवी के अलावे रोही पंचायत के मुखिया नंदकिशोर यादव ,काहुदाग के दीनानाथ यादव ,बुनेर के जानकी यादव ,बिंदा के राजू यादव ,सरवॉ के सबनम आरा ,पतलूका के राधिका देवी ,बारा के माधुरी कुमारी सिन्हा ,जयगीर के मनवा देवी तथा पंचायत समिति सदस्यों में प्रमुख चंदिया देवी ,उपप्रमुख इंद्रदेव यादव, संजय सुमन, संजय यादव, पिंकी देवी ,कौशल्या देवी उपस्थित रहे ।


वहीं बैठक का बहिष्कार करने वाले मुखियो में भलुआचट्टी पंचायत के गीता देवी,झाझ पंचायत की नीलू देवी, दिवनिया पंचायत के ओकार कुमार तथा बजरकर पंचायत के मुखिया गायत्री देवी का नाम शामिल है ।वहीं पंचायत समिति सदस्यों में बिदा पंचायत के उर्मिला देवी ,झाझ के अर्जुन पासवान ,बीबी पेसरा के मो. फिरोज अंजुम, रोही के उषा रानी, बजरकर के मंजू देवी, भलुआचट्टी के चंद्रदेव कुमार, जयगीर के मालती देवी, पतलुका के हेमा देवी तथा बुमेर के गीता देवी ने बैठक का बहिष्कार की है। इसके अलावा पंचायत के एक पंचायत समिति सदस्य रणधीर कुमार अपराधिक मामले में जेल की सलाखों के भीतर बंद हैं ।इधर बैठक में उपस्थित पदाधिकारियों में बीडीओ मनोज कुमार के अलावे अंचल अधिकारी कैलाश महतो ,सीडीपीओ ,मनरेगा के कार्यक्रम पदाधिकारी ,प्रखंड कृषि पदाधिकारी ,आदर्श ग्राम योजना के कनीय अभियंता ,सात निश्चय योजना के कनीय अभियंता, शिक्षा पदाधिकारी के प्रतिनिधि उपस्थित थे ।जबकि आपूर्ति, बिजली ,पीएचडी ,पशु चिकित्सा, चिकित्सा केंद्र से जुड़े अधिकारी अनुपस्थित रहे हैं ।



इधर बैठक में मौजूद सांसद विजय कुमार मांझी ने बताया कि प्रखंड अंतर्गत कल्याणकारी विकास योजनाओं की तीव्र गति से संचालित हो रही है ।वहीं प्रखंड प्रमुख चदिया देवी ने भी बतायीं कि कोरम पूरा होने के बाद ही बैठक संपन्न की गई है। इसमें विकास संबंधी कई बिंदुओं पर चर्चा की गई और जनहित के प्रस्ताव पारित किए हैं ।वही समिति के कार्यपालक पदाधिकारी स्थानीय बीडीओ इस मुद्दे पर कुछ भी बोलने से परहेज करते रहे ।बैठक के बहिष्कार करने वाले  पंचायत समिति सदस्य  मंजू कुमारी एवं उषा रानी  ने  कार्यवाही को  गैरकानूनी बताते हुए कहा कि पंचायती राज अधिनियम के  विरुद्ध जो प्रस्ताव पारित किया गया है वह गैरकानूनी है  और कोरम के अभाव में बैठक संपन्न हुई है वह बैठक  गलत  और गैरकानूनी है उन्होंने बैठक की कार्यवाही को अमान्य  बताया है ।



प्रखंड विकास पदाधिकारी को प्रमुख एवं उप प्रमुख के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव का आवेदन दिए जाने के बावजूद बैठक का आयोजन किया गया है ,जो गैर कानूनी व अमान्य है । सदन में  कुल 35 सदस्य हैं  जिनमें मात्र 16 लोगों की उपस्थिति रही है। इस दौरान पक्ष एवं विपक्ष द्वारा आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला चल पड़ा है और अपने अपने दावे भी किए जा रहे हैं। लेकिन इतना तय है कि प्रमुख व उप प्रमुख की कुर्सी फिर मझधार में में फंस गई है और वह अपनी कुर्सी बचाने में कितना कामयाब होंगे यह तो समय बताएगा।

लोगो की प्रतिक्रिया

No any comment posted yet..

अपनी प्रतिक्रिया दे