आवागमन की समस्या से जूझ रहे ग्रामीण श्रमदान से कर रहे सड़क का निर्माण

Sudhanshu Kumar Ranjan 136 1 07 June 2020


रिपोर्ट विनोद विरोधी 


गया ।  कहते हैं जब विकास के रास्ते अवरुद्ध हो और किसी के पास फरियाद भी अनसुनी हो जाए तो लोग अपना रास्ता खुद तलाशते हैं ।कुछ इसी तरह का वाकया जिले के  गुरुआ विधानसभा क्षेत्र के गनौरी टिल्हा में हो रहा है ।क्षेत्र के पहरा पंचायत के गनौरी टिल्हा के आवागमन से त्रस्त लोगों को जब स्थानीय जनप्रतिनिधियों से आशा खत्म हो गई तो उन्होंने श्रमदान से सड़क का निर्माण शुरू कर दिया है ।ग्रामीण बताते हैं कि आजादी के सात दशक के बाद भी गांव को पक्की सड़क से नहीं जोड़ा जा सका है ।तब विवश होकर लोगों ने श्रमदान व आर्थिक सहयोग प्रदान कर सड़क का निर्माण करने में जुटे हुए हैं ।


बिहार प्रदेश असंगठित कामगार मजदूर यूनियन के जिलाध्यक्ष केदार वर्मा ने बताया कि इस सड़क के निर्माण के लिए स्थानीय विधायक एवं औरंगाबाद लोकसभा के सांसद का दरवाजा अनेक बार खटखटा चुके हैं, लेकिन उनके आशा पर पानी फिर चुका है ।इसके पश्चात स्थानीय लोगों ने एक निर्णय कर आज से इसका निर्माण कार्य शुरू कर दिए हैं ।


इस श्रमदान में जुटे प्रमुख स्थानीय लोगों में नरेश प्रसाद, सत्येंद्र प्रसाद ,योगेंद्र प्रसाद, हीरा प्रसाद ,बैजू प्रसाद ,सुनील कुमार, विनय कुमार ,कृष्णदेव प्रसाद, खिलावन प्रसाद, नागमणि, मिथिलेश कुमार ,श्रवण कुमार, उपेंद्र समेत अन्य सैकड़ों लोग शामिल हैं।

लोगो की प्रतिक्रिया

Laxman Kumar - OK

  • 08 June 2020

अपनी प्रतिक्रिया दे