श्रीकृष्ण कथा का श्रवण करने पहुंचे सैकड़ों संत प्रेमी

जीवन मंत्र

श्रवण आकाश, खगड़िया

खगड़िया जिला के परबत्ता प्रखण्ड अंतर्गत चकप्रयाग गाँव में बजरंग मानस गोष्ठी का 38 वां दो दिवसीय वार्षिकोत्सव सत्संग कथा मानस गोष्ठी का आयोजन हो रही है | जिसमें मुख्य कथावाचक के रुप में श्री श्री 108 श्री भाष्कर जी महाराज (दिल्ली) का आगमन हुआ था और अन्य कथावाचक के रूप में बालब्यास कन्हैया, मरांची, और श्री नीरज मिश्रा, बनारस का आगमन हुआ था | जिसमें श्री भाष्कर जी महाराज ने कहा कि भगवान श्रीराम की लीला अपरमपार है | इनके आचरण से ही संसार में सुख समृद्धि व शांति का माहौल सुनिश्चित है। वही मरांची से आये बालब्यास कन्हैया जी महाराज ने अपने प्रवचन में भगवान श्रीराम के सद्विचारों व वनवास यात्रा की ओर श्रोताओं का ध्यान केंद्रित करते हुए, भगवान श्रीराम सीता व लक्ष्मण के भाईचारे की वर्णन किया | तत्पश्चात बनारस जैसे पावन तीर्थ भूमि से चलकर आऐ श्री नीरज मिश्रा जी महाराज ने भी भगवान श्रीराम की जीवनी व श्रीराम नाम की महत्ता पर प्रकाश डालकर सभी श्रोताओं को राम भक्ति में भाव विभोर कर दिया | जिसका उद्देश्य समाजिक एवं विश्वकल्याण – जनकल्याण था | इस भब्य सत्संग कथा गोष्ठी के आयोजक शशिकांत चौधरी ने बताया कि ग्रामीण वातावरण सह अच्छे आचरण का निर्माण एक मात्र श्रीराम कथा और श्री राधे कृष्णा कथा का श्रवण कर उसे आचरण में उतारने से ही संभव है | तत्पश्चात मंच संचालक कर रहे रौशन कुमार ने भी कहा कि हमारे समाज में दिख रहे कुरितियों का समापन हेतु आज के समय में भी श्रीरामचरितमानस का अध्ययन अतिआवश्यक है | इसी कार्यक्रम को भक्तिमय व संगीतमय बनाने के लिए गायक रुपेश चौधरी और तबला वादक कुंदन कुमार आये हुए थे, जो बेहतरीन संगीतमय प्रस्तुत कर सैकड़ों ग्रामीणों को झुमने को विवस कर दिया | इसमें मुख्य कार्यकर्ता के रूप में प्रभाष चौधरी, परमानंद चौधरी, राम बालक चौधरी, विजय शर्मा, राम लड्डू गोपाल, गुलशन नयन आदि दर्जनों सहयोगी व सैकड़ों श्रीराम व श्री राधे कृष्णा कथा प्रेमी उपस्थित थे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *