चमचमाती अस्पताल में चिकित्सा बना ढकोसला, महज 2 से 3 घंटे डाॅक्टर रहते है मौजूद

ताजा खबरें

श्रवण आकाश, खगड़िया

खगड़िया : जिले के परबत्ता प्रखण्ड अंतर्गत सियादतपुर अगुवानी पंचायत के अगुवानी बस स्टैंड के निकट स्थित सरकारी अस्पताल की स्थिति वर्षों से बदतर दिखाई दे रही है। देखने को तो इतने खुबसूरत चमचमाती मखाने है मानो कोई पर्यटन स्थल है लेकिन जब जमीनी स्तर पर चिकित्सकों की बात कीजिये तो पता चलेगा, इतने खुबसूरत व बड़ी महलों में वर्षों से सिर्फ एक ही चिकित्सक देखने को मिलती है। वर्तमान समय की बात किजिये तो 24 घंटे में सिर्फ दो से तीन घंटे ही मात्र चिकित्सक या डाॅक्टर बाबु रोगियों की सेवा के लिए मौजूद दिखते है। इमरजेंसी सेवा या आपातकालीन स्थिति में तो ग्रामीण अस्पताल को छोड़ रोगी 5 किमी दूर जाने को मजबूर रहते हैं। कभी-कभी ऐसा देखा जाता है कि रोगियों को दूरस्थ अस्पताल में पहुँचने से पहले ही बीमार या घायल रोगी दम तोड़ देते हैं।

अस्पताल को देखरेख करने फोर्थ क्लास कर्मी सुभाष चौधरी के द्वारा पुछताछ करने पर बताया कि वर्तमान में डाॅक्टर राजेश कुमार प्रत्येक दिन कुछ महीने से आते है। इससे पहले भी सिर्फ एक ही डाॅक्टर सप्ताह में दो तीन घंटे ही रोगियों को सेवा देने आते थे। इतने भव्य अस्पताल में डाॅक्टर दो घंटे से स्थाई या आसपास के ग्रामीण नाखुश व सरकार के स्वास्थ्य विभाग पर अपनी असंतुष्टि जाहिर करते दिखे। साथ ही साथ रोगियों की भीड़ अस्पताल से दर्जनों की संख्या में घर वापस आते दिखे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *