सम्मेलन के माध्यम दिव्यांगजन सरकार से मांग करेंगे रोजगार

ताजा खबरें

दलसिंहसराय – पंचायत समिति भवन दलसिंहसराय , समस्तीपुर में दिव्यांगजनों के जन सभा को संबोधित करते हुए दिव्यांग अधिकार सम्मेलन के आयोजक अध्यक्ष श्री ह्रदय यादव ने कहा की दिव्यांगो को जागरूक करना ,साथ ही दिव्यांगों के लिए दिव्यांग अधिकार अधिनियम 2016 की सुसंगत धाराओं को जमीनी स्तर पर लाने की जरूरत है। मैं मानता हूं,की सरकार दिव्यांगों के लिए विभिन्न तरह की योजनाएं वर्तमान समय मे दिव्यांग जनों को पेंशन, राशन, मनरेगा जॉब, प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री नि:शक्त विवाह प्रोत्साहन, योजना आदि का लाभ अब हम लोग आसानी से नहीं ले पा रहे है।

जमीनी स्तर पर वास्तविकता कुछ और है। दिव्यांगो की आज इतनी बड़ी आबादी है की यदि बिहार के दिव्यांगजन चाहे तो सरसकर की ईट से ईट हिला देगे। पर दिव्यांगो के हक के लिए हम दिव्यांगजनों को एक साथ आना होगा । आगामी 3 दिसंबर 2021 को “अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस” पर हम सभी बिहार के दिव्यांगजन पटना के “गांधी मैदान” में अपने अधिकार के लिए “दिव्यांग अधिकार दिवस” के रूप में एक भव्य “सम्मेलन” का आयोजन सरकार के गाइडलाइंस का पालन करते हुए करेंगे ।

इसके बावजूद भी यदि सरकार द्वारा गांधी मैदान नहीं मुहैया कराया गया तो हम सभी अपने जिले में ही अनुमंडल,प्रखंड एवं पंचायत स्तर पर “दिव्यांग अधिकार दिवस” का आयोजन कर सरकार से अपने हक की मांग करेंगे। जिसमें आप सभी दिव्यांगजन की उपस्थिति अनिवार्य है,साथ ही बिहार के हर दिव्यांग के घर से एक ग्लास चावल एवं आधा ग्लास दाल की मांग की जिससे सम्मेलन में हर दिव्यांग समरस भोजन कर सके । मौके प्रदेश मीडिया प्रभारी धीरज कुमार धनराज ने कहा की हम अपनी संगठन की ओर से सरकार ये मांग करेंगे की पंचायत स्तर पर दिव्यांग मित्र का चयन हो जिसे पंचायत स्तर पर दिव्यांगों को योजनाओं का लाभ मिल सके।

 

दिव्यांगजनों ने अपने हक की खातिर सम्मेलन होने तक “महाहस्ताक्षर अभियान” का भी मुहिम चलाया जा रहा है जो आगामी 3 दिसंबर 2021 तक चलेगा। जिसका मुख्य उद्देश्य दिव्यांगो को हक और सम्मान दिलाना है। बिहार के दिव्यांगजनो को शिक्षा से महरूम किया जा रहा है,जिसकी वजह से दिव्यांगजन का जीवन बदल नही पा रहा है। दिव्यांगो को अपना योजन का लाभ आरक्षण जमीनी स्तर पर नहीं मिल रहा है। सरकार द्वारा प्रदत्त योजनाएं दिव्यांगों के लिए केवल कागज पर ही सिमटी हुई है। बिहार के 51 लाख दिव्यांगजनो को एक साथ एक मंच पर आकर एक आवाज में जब तक सरकार से गुहार नही लगायेगे तब तक दिव्यांग योजनाओं का लाभ पंचायत स्तर पर दिव्यांगों को नहीं मिल पायेगा।

 

प्रोग्राम मैनेजर लालू तुरहा ने कहा की वर्तमान समय में अनुमंडल स्तर पर दृष्टि बाधित दिव्यांगों के प्रमाणीकरण में समस्याएं आ रही है और इसी तरह की अंगिनित समस्या जिसके समाधान के लिए सम्मेलन को सफल बनना होगा जिसके लिए दिव्यांग बहु बेटियों को आगे आना होगा । हम सभी दिव्यांगजन किसी से कम नहीं है, दिव्यांगजनों को सहानुभूति की नही बल्कि हमें अपना हक चाहिए। सम्मेलन को सफल बनाने हेतु दलसिंहसराय अनुमंडल में आयोजन समिति का गठन हुआ ।

जिसमें पिंटू कुमार को आयोजन समिति का अध्यक्ष, वीर बहादुर को उपाध्यक्ष,मुकेश कुमार को सचिव, पप्पू राय को संयुक्त सचिव,रामकुमार राय को पीआरओ,दिवाकर सिंह मीडिया प्रभारी , मिंटु कुमार राय को ट्रांसपोर्ट इंचार्ज, सोनी कुमारी को महिला सदस्य ,संतोष कुमार राय को लॉजिस्टिक इंचार्ज ,राम सागर साह को डीपीओ पद के लिए चुना गया सभी को माला पहना कर अपने कार्य के प्रति हौसल अफजाई किया गया। इस मौके पर सतनाराय महतो,विनीत कुमार चौधरी,रामसागुन पासवान,जीनत प्रवीण,रंजीत पासवान,संतोष कुमार,संजीत पासवान के साथ लगभग सैंकड़ों की संख्या में दिव्यांग जन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *