प्रांतीय युवा प्रकोष्ठ के 25वां भव्य वार्षिकोत्सव समारोह को रजत जयंती के रूप में मनाया

जीवन मंत्र

श्रवण आकाश, खगड़िया

अखिल विश्व गायत्री परिवार की युवा इकाई प्रांतीय युवा प्रकोष्ठ ने अपनी 25 वें वार्षिकोत्सव समारोह को रजत जयंती के रूप में भब्य रुप से मनाया। जिसमें मुख्य वक्ता के रुप में शांतिकुंज, हरिद्वार से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से इसप्रीच्युअल साइंटिस्ट व अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रमुख सह देव संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्रद्धेय डाॅ० प्रणव पांडया ने ब्यक्तित्व प्रबंधन के लिए ब्यवहारिक आध्यात्म के सुत्र विषय पर युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि युवाओं को अपने अंदर के अंधकार को दूर करके अंदर की ज्योति जलानी होगी। आप खुद अपना दीपक बने। बाहर प्रकाश तलाशने की कोई जरूरत नही है। तत्पश्चात श्रद्धेया जीजी शैल बबाला पांडया ने भी वीडियो कांफ्रेंस के ही माध्यम से कहीं कि यदि मानव जाति के विकास को देखेंगे तो काफी बदलाव पायेंगे। आज इंसान कहाँ से कहाँ पहुँच गए, पर इसमें कोई बदलाव जैसे संचार, यातायात, सुचनाओं की क्रांति को शुभ सकारात्मक कह सकते हैं। युवा आप अपनी ताकत – शक्तियों को पसचानो और राष्ट्र हित में अपनी शक्ति लगाओ।

वही प्रांतीय युवा प्रकोष्ठ के संचालक मनीष कुमार ने बताया कि अगर युवा वर्तमान चुनौती को स्वीकार नहीं किया तो हमारा देश जगत गुरु था, वह पश्चिमी सभ्यता के आगोस में चला जाएगा। इसमें हम सभी की मुख्य भूमिका यह है कि युवाओं के साथ मित्रवत ब्यवहार करें और अब उन्हें प्यार से ही आदर्श बनाना होगा। वर्तमान समय में युवाओं को भटकाने वाले काफी साधन उपलब्ध हो गई है। जिसमें सोशलमीडिया प्रथम स्थान पर है। इन युवाओं के अंदर सकारात्मक ऊर्जा मेडिटेशन के माध्यम से हीं किया जा सकता है और विगत 25 वर्षों से अनवरत प्रत्येक रविवार गायत्री शक्तिपीठ, कंकड़बाग, पटना में प्रातः 8 बजे से 10 बजे तक और संध्या 4 बजे से 6 बजे तक के नि:शुल्क मेडिटेशन क्लास में युवाओं को निगेटिव से पाॅजीटीव रास्ते पर लाने का प्रयास किया। जिसके बदौलत 50 से अधिक जगहों पर झुग्गी- झोपड़ी के बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देने का काम युवा कर रहे हैं।

इस कार्यक्रम में आये मुख्य अतिथि बिहार सरकार के शिक्षा, समाजिक न्याय एवं भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने संबोधित करते हुए कहा कि समाज में विकास दृढ़ संकल्पों से ही होगा। साथ ही साथ यह भी कहा कि यह जो गायत्री परिवार के युवाओं ने कर दिखाया और दिखाते आ रहें हैं, यह बहुत ही सराहनीय कार्य है | तत्पश्चात इस समारोह में शामिल सी.जी.एम. (बिहार झारखंड) के पदाधिकारी पीयूष गोयल ने अपने संबोधन में कहा कि अध्यात्म हमें अपने कर्म के प्रति ईमानदार बनाता है। मैं इस कार्यक्रम में शामिल होकर धन्य धन्य हो गया और इतने अच्छे कार्यक्रम में मुझे आमंत्रित करने के लिए और युवाओं के उज्ज्वल भविष्य हेतु इस संस्था का संचालन करने के लिए मनीष कुमार को सदा आभारी बना रहुंगा। अंततः सभी अतिथियों और युवाओं को इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बहुत बहुत आभार व धन्यवाद। इस भब्य वार्षिकोत्सव समारोह को सफल बनाने के लिए गायत्री शक्तिपीठ के जोनल समन्वयक डाॅ० अशोक कुमार, विजय शर्मा, ज्ञान प्रकाश, निशांत रंजन, प्रिंस रंजन, राजीव, अभिषेक, बिट्टू, मंटू, रमेश, सच्चिदानंद, सुमित सुशील का सहयोग रहा। साथ ही साथ इस कार्यक्रम में पधारे हज्जारों युवाओं की सहयोग मुख्य रूप से रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *