Monday, November 30, 2020

चीन-भारत गतिरोध पर बोले अमित शाह- कोई हमारी एक इंच जमीन भी नहीं ले सकता

राजनीति

नई दिल्ली, एजेंसी। लद्दाख में चीन के साथ जारी गतिरोध के बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार देश की एक-एक इंच जमीन को बचाने के लिए पूरी तरह सजग है और कोई इस पर कब्जा नहीं कर सकता। शाह ने यह भी कहा कि सरकार चीन में लद्दाख के साथ गतिरोध को सुलझाने के लिए हरसंभव सैन्य और कूटनीतिक कदम उठा रही है।

क्या चीन ने भारतीय क्षेत्र में प्रवेश किया है, इस प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि हम अपने एक-एक इंच भूभाग को लेकर चौकन्ने हैं, कोई इस पर कब्जा नहीं कर सकता। हमारे रक्षा बल और नेतृत्व देश की संप्रभुता और सीमा की रक्षा करने में सक्षम हैं। गृह मंत्री ने यह भी कहा कि सरकार देश की संप्रभुता और सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। आगामी बिहार विधानसभा चुनाव के संदर्भ में शाह ने विश्वास जताया कि एनडीए दो-तिहाई बहुमत हासिल करेगा। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार चुनाव के बाद राज्य के अगले मुख्यमंत्री होंगे।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह फाइल फोटो

एलएसी पर चीन के साथ जारी सीमा विवाद को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि मोदी सरकार देश की एक-एक इंच जमीन को बचाने के लिए पूरी तरह सजग है और कोई इस पर कब्जा नहीं कर सकता।

 

नई दिल्ली, एजेंसी। लद्दाख में चीन के साथ जारी गतिरोध के बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार देश की एक-एक इंच जमीन को बचाने के लिए पूरी तरह सजग है और कोई इस पर कब्जा नहीं कर सकता। शाह ने यह भी कहा कि सरकार चीन में लद्दाख के साथ गतिरोध को सुलझाने के लिए हरसंभव सैन्य और कूटनीतिक कदम उठा रही है।

क्या चीन ने भारतीय क्षेत्र में प्रवेश किया है, इस प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि हम अपने एक-एक इंच भूभाग को लेकर चौकन्ने हैं, कोई इस पर कब्जा नहीं कर सकता। हमारे रक्षा बल और नेतृत्व देश की संप्रभुता और सीमा की रक्षा करने में सक्षम हैं। गृह मंत्री ने यह भी कहा कि सरकार देश की संप्रभुता और सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। आगामी बिहार विधानसभा चुनाव के संदर्भ में शाह ने विश्वास जताया कि एनडीए दो-तिहाई बहुमत हासिल करेगा। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार चुनाव के बाद राज्य के अगले मुख्यमंत्री होंगे।

 

बिहार में तीन-चौथाई सीटें जीतने का किया दावा

अमित शाह ने एक मीडिया से बातचीत में साफ किया कि लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान से बातचीत तो हुई थी, उन्हें कई बार प्रस्ताव दिया गया, यह भी बताया गया कि कोई बात है तो बातचीत हो सकती है, लेकिन बात नहीं बनी। उन्होंने कहा कि इस बार के चुनाव में जदयू के रूप में नया साथी जुड़ा है तो सबकी सीटें कम होनी तय थी। भाजपा भी कम सीटों पर लड़ रही है। चिराग पासवान के साथ बात नहीं बन पाई। प्रस्तावित सीटों की संख्या बताने से इनकार करते हुए शाह ने एक सवाल के जवाव में कहा कि चुनाव में राजग तीन चौथाई सीट जीत कर सरकार बनाएगा.. चिराग खुद राजग छोड़कर गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *