आस्था का महापर्व छठ घाट पर उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़, सूर्यदेव की हुई पूजा-अर्चना

जीवन मंत्र

श्रवण आकाश की रिपोर्ट

खगड़िया : बिहार के प्रसिद्ध लोक आस्था का छठ महापर्व को लेकर खगड़िया जिला के सभी प्रखंडों में गंगा घाट पर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी थी। जिसमें परबत्ता प्रखंड के विश्व प्रसिद्ध गंगा घाट अगुवानी में भी भीड़ देखने को ऐसी मिली की सुई तर रखने की जगह नहीं दिख रही थी। प्रातः छठ व्रतियों में चहल पहल व दिलों में प्रसन्नता की लहर देखने को मिल रही थी। प्रातः ब्रह्म मुहूर्त से ही श्रद्धालु दंडवत अपने घर से छठ गंगा घाट जाते दिखे और दोपहर माताओं बहनों के मुंह से मधुर गीतों के साथ पुआ – पकवान बनाते नजर आ रहे थे। तत्पश्चात दोपहर बाद दौड़ा में फल के साथ सुप लेकर गंगा घाट गए और वही दिल से डूबते सूर्य को अर्ध्य देकर मनोकामनाएं बता कर पूजा अर्चना करते नजर आए। जिसमें गिने-चुने बच्चे आतिशबाजी के साथ धूम-धड़ाके करते नजर आए। नवयुवक और नवयुवती सेल्फी के साथ मीठी मुस्कान भरकर आनंद उठाते नजर आए।

लोक आस्था के महा पर्व छठ पर्व में विभिन्न गांव में संप्रदाय सदभाव देखा जाता है यहां के ख़िराडीह पंचायत के ख़िराडीह गांव में तो सांप्रदायिक सौहार्द का मिसाल कायम है यहां हिंदू महिला के साथ साथ मुस्लिम महिला भी छठ पूजा करती है कि यहां के खीराडीह में इसकी संख्या अच्छी-खासी है इन महिलाओं में यहाँ के लैला खातून, खैरा खातून, नसीमा खातून, मजरुल खातून, जुबेदा खातून, पूनम खातून, किरण खातून, खातून आदि शामिल है यह महिलाएं 8 बर्ष से पर्व रखती है सारे नियमों का पालन करती है नहाए खाए से लेकर खरना समेत पर्व के निमित्त सभी चीजें विधि विधान से करती है एक दर्जन मुस्लिम महिलाएं छठ पर्व रखती है और बरसों से रख रही है यहां के अगुवानी गंगाघाट लगार घाट व अन्य घाटों में हिंदू महिलाओं के साथ मुस्लिम महिलाएं अस्ताचलगम औऱ उदयमान सूर्य को अर्घ्य प्रदान करते हैं किसी तरह का दूरी नहीं देखा जाता है बर्षो से मुस्लिम समुदाय के लोग भी हिंदू समुदाय के महिलाओं के सुप के नीचे अर्घ देते हैं जबकि मुस्लिम समुदाय के लोग भी हिंदू समुदाय की महिलाओं के सुप के तले अर्घ देते हैं यह परंपरा 7 से 8 वर्षों से चलता आ रहा है इस पूजा में सौहाद्र देखा जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *